हमारे पास  टाइम पास करने के अनेक नायाब तरीके है! गप्पे  मारना, मोबाइल गेम, इंटरनेट चैटिंग, सोशल मीडिया पोस्ट पढ़ना, गाना सुनना, मूवी देखना, क्रिकेट देखना,  ताश लूडो इत्यादि खेलना, जब मन हो तब सो जाना, यह सभी उन उदाहरणों में से है, जो हम सबको पसंद है!  पर इन सबसे हटकर अब अव्यश्कता हैं आपदा में अवसर तलाशने कि, यदि हम और आप समय का सदुपयोग करना सीख जाएँ तो हमारे लिए यह जीवन भर के लिए वरदान साबित होगा !  ना कटने वाले कितने भी दिन या रात हो, यदि आपने अपने पैशन को पा लिया और अपने आप को उसमे निखारने में लग गए तो आपको दिन महीने साल कुछ भी पता नहीं चलेगा और आपका समय आपको एक ऐसा उपहार देगा, जिससे आपकी ज़िन्दगी को निश्चित रूप से नई दिशा मिलेगी !

एक समय था जब हम सब लम्बी छुट्टियों के लिए तरसते थे,  या तो हमें लम्बी छुट्टियों के लिए बड़े बड़े त्योहारों जैसे दीपावली दशहरा या गर्मी कि छुट्टियों का बेसब्री से इंतज़ार होता था ! 

आज के लॉकडाउन के युग में अब सब कुछ उल्टा हो चुका है, अब समस्या ये है कि इन छुट्टियों से कैसे छुटकारा मिले,  छुटकारा मिले ना मिले हम आपको कुछ सटीक बातें बताने वाले है जो न केवल समय के महत्वपूर्ण  उपयोग में आपका साथ देगा बल्कि आपके कौशल एवं आत्मविश्वास को भी बढ़ाएगा !

  • यदि आप व्यायाम करने के आदि नहीं है या यह आपके दैनिक चर्या में शामिल नहीं है, तो इससे अच्छा अवसर आपको शायद ना मिले ! आज के तनावपूर्ण जीवन में  व्यायाम ना केवल आपके शरीर को शुस्वास्थ्य रखेगा बल्कि आपको तनाव मुक्त एवं मानसिक रूप से आशावादी बनाये रखने में आपकी सहायता भी करेगा !  योग एक  व्यायाम के रूप में सबसे उत्तम विकल्प है! यदि आपको पैदल चलने अथवा टहलने का शौक है, तो आप अपने टेरेस में या चारदीवारी के अन्दर भी इसका लुत्फ़ उठा सकते है!  For youngsters, it is the perfect time to set some fitness and health goals. You can start with as little as some warm ups and at least 10 push ups, all of sudden you will start feeling so refreshed and full of energy.  This can be a new start or even a turning point in your life or career, so this is my number one tip during this lock down.
  • सबसे जरुरी दूसरी चीज़ है प्लानिंग एंड रिव्यु अर्थात योजना एवं क्रियान्वयन के बारे में विस्तार से सोच विचार करना ! कई बार भाग दौड़ वाली ज़िन्दगी में हम यह जान ही नहीं पाते, कि हम क्या कर रहें है या हमारी ज़िन्दगी किस दिशा में जा रही है, हमें क्या करने कि अव्यश्कता है, मेरे पास कौन कौन से संसाधन अथवा विकल्प है,  what are my financial or career goals, etc. etc.  जब तक हम यह सब नहीं सोचेंगे तब तक इस दिशा में आगे बढ़ पाना मुश्किल होगा ! सबसे पहले अपने सारे क्रियाकलाप या दिनचर्या को सुव्यवस्थित करने कि  अव्यश्कता है, तभी हमें पता चलेगा कि किस चीज़ पर हमें ज्यादा समय और ध्यान देने कि ज़रुरत है और किस चीज़ में कम ! What I mean is a bit of insight –  आत्मदर्शन !
  • एक बार आपने सभी लक्ष्यों एवं यथास्थिति कि जानकारी हासिल कर ली मान लो आपका आधा काम हो गया ! अब आपको पता चल ही गया होगा कि, क्या मैं वह सब स्किल्स सीख रहा हु या रही हु जो मुझे सीखना चाहिए, क्या मैं अपने वर्तमान जॉब या हॉबी से संतुष्ट हु ?  क्या मैं अपने या दूसरों के सपनों को पूरा कर रहा हु ?  संक्षेप में आपको वही सब करने में ख़ुशी मिलेगी जिसे आप एन्जॉय करते हो, उदहारण के तौर पर यदि आपको लिखना पसंद है, तो आप डिजाईन में नहीं जाओगे, यंहा आपको और भी ज्यादा व्यवहारिक होने कि ज़रुरत है, so many times our brain try to fool us. So always try to make SMART goals.  बहुत बड़े बड़े दैनिक लक्ष्य बनाने कि अव्यश्क्ता नहीं है, इससे आपको निराशा होगी जब आप उसे पूरा नहीं कर पाओगे, इसलिए छोटे छोटे लक्ष्य बनाये और उसे पूरा करे !
  • सुचना एवं संचार क्रांति का भरपूर फायदा उठायें !  आज हम सभी के पास स्मार्ट फ़ोन है, इसका सही उपयोग करना सीखें !  आपको पता होगा, उच्च शिक्षा या उत्तम स्तर कि शिक्षा अब केवल समृद्ध लोगों कि बपौती नहीं रह गई है, इंटरनेट में दुनिया कि हर शिक्षा फ्री में उपलब्ध है !  किताबी और स्कूल कि शिक्षा का अब कोई औचित्य नहीं रह गया है, अनेक इंजीनियर और MBA आज अपनी डिग्री लेकर नौकरी कि तलाश में   घूम रहे है,  ये वही लोग है जिन्होंने प्रैक्टिकल ज्ञान हासिल नहीं किया !  एक बार जब आप निर्णय ले लेते है, कि ये चीज़ आपको सीखनी है, उसके बाद उक्त विषय के बारे में आपको सारे  ऑनलाइन रिसर्च कर लेने चाहिए, उसके बाद इन्टरनेट में उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ कंटेंट ही आपकी विषय वस्तु होनी चाहिए! कई बार youtube में हम अपनी दिशा से भटक जाते है, लेकिन  आपको  अपनी इच्छाशक्ति को दृढ़ करने कि अव्यशय्कता है !  Coursera, Udemy, Edx  इत्यादि ऐसे अनेक उदाहरण है, जहां मुफ्त में आपको ना केवल  विश्व स्तरीय शिक्षा बल्कि डिग्री भी हासिल हो सकती है !
  • Last but not the least –  अपने आप को समय देना सीखे !  समय देने का अर्थ रिलैक्स हो जाना कतई नहीं है, एक स्वस्थ शरीर ही एक  स्वस्थ दिमाग प्रदान कर सकता है, इसलिए अपने आप को महामारी से सुरक्षित रखते हुए अपने इम्यून सिस्टम या प्रतिरोधक क्षमता को लगातार बढ़ाना है, जागरूकता फैलाना है, अपने सगे सम्बन्धी का पूरा ख्याल रखना है, और जितना हो सके लोगो कि सहायता भी करना है, अपने मनोरंजन का ध्यान रखते हुए समयनुसार अपने आप को स्ट्रेस फ्री भी रखना है! Make most  of the lock-down by opting for short courses; for example learn so many simple HOW TOs related to computer and digital marketing, which are most relevant and high paying jobs today. Apart from this, learn Social Media Marketing another high demand job.  I am ready to help you choose the best free online course regarding the above.  You can go through my related blog on these subjects here.

उम्मीद है, उपरोक्त टिप्स आपके लिए उपयोगी होगी !  यदि आपको डिजिटल मार्केटिंग एवं स्पोकन इंग्लिश  सीखनी है, तो मुझसे ज़रूर संपर्क करे !